Naveen Rojgar Chatri-Yojana 2022: आवेदन फॉर्म और उद्देश्य

आज के इस आर्टिकल हम सभी लोग उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा लाए गए नवीन रोजगार छतरी योजना 2022 पर विस्तार पूर्वक बातें करने वाले हैं. इससे जुड़ी छोटी से छोटी बात हमारे इस पोस्ट पर उल्लेखित है. उत्तर प्रदेश राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने अपने प्रदेश के नागरिकों के लिए नवीन रोजगार क्षेत्र योजना की शुरुआत 18 जुलाई 2022 में कालिदास मार्ग पर आयोजित किए गए एक कार्यक्रम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के द्वारा कर दी थी.

इस योजना का मुख्य उद्देश्य प्रदेश के गरीब असहाय वर्ग के व्यक्तियों के विकास में ध्यान केंद्रित करना है, इस योजना के तहत पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्वरोजगार योजना के लाभार्थियों के खाते में 17 करोड़ रुपयों की धनराशि मुख्यमंत्री जी के द्वारा ट्रांसफर की जा चुकी है.

इसमें और कौन सी बात खास है?

राज्य सरकार अपने नागरिकों के विकास के लिए योजनाओं को हर संभव स्तर पर चलाती रहती है, जिससे उनके अपने नागरिकों को किसी भी प्रकार से कोई भी आर्थिक संकट का सामना ना करना पड़े. कोरोना महामारी के समयावधि में देश में सभी राज्यों के नागरिकों को बहुत ही ज्यादा आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ रहा था, इस स्थिति को मध्य नजर रखते हुए राज्य सरकार ने यह कदम उठाया है.

करोना महामारी के समयावधि में देश के सभी व्यवस्थाएं बंद हो चुके थे, जिसका नुकसान प्रत्येक वर्ग के लोगों को उठाना पड़ रहा था ऐसे सर्वाधिक नुकसान आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों को हुआ. इन परिस्थितियों ने उत्तर प्रदेश राज्य में नवीन रोजगार छतरी योजना 2022 को जन्म दिया है, इस योजना के माध्यम से राज्य सरकार गरीब और श्रमिक वर्ग के लोगों को आर्थिक सहायता प्रदान करेंगी जिसके जरिए वह स्वयं के रोजगार को प्रारंभ कर सकें.

इस योजना से जुड़े कुछ अन्य बातें

जैसा कि हम ने बताया कि यह योजना उत्तर प्रदेश राज्य के मुख्यमंत्री जी के द्वारा प्रारंभ की गई हैं इस योजना का नाम नवीन रोजगार छात्र योजना 2022 हैं इस योजना की शुरुआत 18 जुलाई 2020 कर दी गई थी.

इस योजना के तहत आने वाले लाभार्थियों में प्रदेश के श्रमिक अनुसूचित जाति एवं गरीब वर्ग के नागरिक सम्मिलित है. इसके उद्देश्य की यदि बात की जाए तो आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों के नागरिकों को रोजगार प्रदान करना है.आवेदन की प्रक्रिया की यदि बात की जाए तो यह ऑनलाइन ऑफलाइन दोनों ही माध्यम में उपलब्ध है.

इस योजना के लाभ

उत्तर प्रदेश रोजगार योजना के तहत प्रदान किए गए धनराशि से लाभार्थी परचूर की दुकान, टेंट हाउस, साइबर कैफे, गोपालन, लॉन्ड्री इत्यादि बिजनेस को प्रारंभ कर सकते हैं.

रोजगार छतरी योजना के माध्यम से गरीब दलित व्यक्तियों श्रमिको अनुसूचित जाति वर्ग तक फायदा पहुंचाया जाएगा. इस योजना में उत्तर प्रदेश राज्य की बेरोजगार और विस्थापित अनुसूचित जाति वर्ग के परिवारों को 7.50 लाख रुपयों की वित्तीय सहायता प्रदान कर दी जाएगी.

इस योजना के तहत उत्तर प्रदेश राज्य के उन परिवारों को बहुत ही ज्यादा फायदा प्राप्त होगा जिन्होंने करोना महामारी के समयावधि में पूरी तरह से बेरोजगारी और आर्थिक तंगी का सामना किया.

इस योजना से गरीब मजदूर वर्ग के परिवारों को आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी, जिससे कि उनकी स्थिति में सुधार हो सके और वह लोग भी अच्छे से अपने जीवन यापन करने हेतु सक्षम हो पाएं.

जरूरी कागजात

  1. आवेदन कर्ता के पास वेध आधार कार्ड होना चाहिए.
  2. आवेदन कर्ता का मोबाइल नंबर होना चाहिए.
  3. आवेदन कर्ता का अपना बैंक अकाउंट होना चाहिए.
  4. आवेदक की पासपोर्ट साइज फोटो होनी चाहिए.
  5. आवेदक का स्थाई निवास प्रमाण पत्र होना चाहिए.
  6. आवेदक की वोटर आईडी कार्ड होनी चाहिए.

पात्रता मानदंड 

इस योजना के लिए अप्लाई करने के लिए आवेदन कर्ता का मूल रूप से उत्तर प्रदेश का स्थाई निवासी होना अनिवार्य है.

आवेदक दीनदयाल उपाध्याय स्वरोजगार योजना के अंतर्गत रजिस्टर्ड होना चाहिए तभी इस योजना का फायदा प्राप्त हो पाएगा.

इस योजना में आर्थिक रूप से पिछड़े लोगों को ज्यादा प्राथमिकता प्रदान की जाएगी.

इस प्रकार आवेदन करें?

जो भी योग्य उम्मीदवार इस योजना के लिए अप्लाई करने के विषय में सोच रहे हैं और इस योजना का फायदा उठाने के इच्छुक हैं, तो उनको बता दे कि अभी कुछ समय के लिए उन्हें इंतजार करना पड़ सकता है.

क्योंकि इस योजना की अभी मुख्यमंत्री आदित्यनाथ जी ने हाल फिलहाल में ही शुरुआत की है तथा आवेदन करने के लिए अभी कोई भी आधिकारिक वेबसाइट को लांच नहीं किया गया है. आशा है कि जल्द ही इस योजना में आवेदन करने की प्रक्रिया को प्रारंभ कर दिया जाएगा.

आखिर यह योजना है क्या?

नवीन रोजगार छतरी योजना को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने प्रारंभ किया है. जिसका फायदा गरीब, दलित और अनुसूचित जाति वर्ग के लोगों को प्राप्त होगा.

इस योजना के जरिए राज्य सरकार योग्य नागरिकों को स्वयं का रोजगार प्रारंभ करने के लिए 7.50 लाख रुपए तक की वित्तीय सहायता प्रदान करने वाली है.

इस योजना में अप्लाई करने के लिए कुछ दस्तावेजों की जरूरत पड़ सकती है, जिसमें मुख्य रुप से आधार कार्ड, मोबाइल नंबर, बैंक अकाउंट, पासपोर्ट साइज फोटो, स्थाई निवासी प्रमाण पत्र, वोटर आईडी कार्ड आदि सम्मिलित है. 

कब पूरी तरह से प्रारंभ होगी यह योजना?

वैसे तो सरकार के द्वारा इस योजना की शुरूआत कर दी गई है लेकिन अभी इस एक्टिव होने में संभवतः थोड़ा सा समय लग सकता है, और जिसके परिणाम स्वरुप आपको थोड़ी सी प्रतिक्षा भी करनी पड़ सकती है.

वैसे तो इस योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य में रोजगार की उपलब्धता को बढ़ावा देना है उत्तर प्रदेश समय-समय पर अपने राज्य में उपस्थित नागरिकों के लिए योजनाएं लाता रहता है.

राज्य सरकार के द्वारा शीघ्र ही इस योजना के तहत ऑफिशियल वेबसाइट को लांच कर दिया जाएगा, जहां पर इच्छुक योग्य उम्मीदवार जाकर के इससे संबंधित ज्यादा से ज्यादा जानकारी प्राप्त कर सकते हैं और अप्लाई भी कर सकते हैं.

निष्कर्ष

आज इस आर्टिकल में हमने आप सभी लोगों के समक्ष नवीन रोजगार छत्रिय योजना 2022 के विषय में सारे आवश्यक जानकारियां उल्लेखित की है, हमने यह भी बताया है कि यह किस राज्य में शुरू की गई है.

Leave a Comment