Ration Card: 1 जनवरी 2024 से फ्री राशन वितरण पर उपभोक्ताओं को होगी परेशानी

गरीबी रेखा से नीचे के प्रत्येक व्यक्ति को सरकार की तरफ से राशन कार्ड के तहत आपको फ्री राशन दिया जाता है। लेकिन नए साल 2024 से कोटेदारों ने सरकार को चेतावनी दी है कि राशन वितरण का लाभांश अगर नहीं बढ़ाया गया तो प्रदेश के 80000 कोटेदार जनवरी से राशन वितरण नहीं करेंगे। जिससे फ्री राशन उपभोक्ताओं को परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

कोटेदारों का कहना है कि कई बार मांग उठाने पर भी मानेदय की व्यवस्था को लागू करने में विचार नहीं किया जा रहा है। राशन डीलरों का कहना है कि उन्हें ₹90 प्रति कुंटल का लाभांश दिया जा रहा है, जबकि अन्य प्रदेशों में हरियाणा व गोवा में ₹200 प्रति कुंतल दिल्ली व केरल में भी ₹200 प्रति कुंतल महाराष्ट्र में डेढ़ सौ रुपए राजस्थान में 125 रुपए प्रति कुंतल लाभांश दिया जा रहा है। राशन डीलरों का केंद्र सरकार पर यह भी आरोप है कि कोरोना काल में जारी गरीब कल्याण अन्न योजना का लाभांश भी नहीं मिला है।

Ration Card 2024

प्रत्येक राज्य की सरकार अलग-अलग किस्म की राशन मुहैया कराती है। कई राज्य सरकार राशन कार्ड के तहत गैस सिलेंडर पर भी सब्सिडी देती है, तो कई राज्य सरकार 50% सब्सिडी पर चावल और अन्य चीजे उपलब्ध करती है। परिषद के उपाध्यक्ष प्रकाश सिंह ने सरकार से प्रति कुंतल ₹200 लाभांश दिए जाने की मांग की है। ऑल इंडिया फेयर प्राइस शॉप डीलर एसोसिएशन ने निर्णय लिया है कि 25 जनवरी तक अगर सरकार द्वारा लाभांश बढ़ाने पर विचार नहीं किया गया तो प्रदेश के सभी डीलर जनवरी 2024 से फ्री राशन वितरण सेवा को ठप कर देंगे।

ज्यादातर भारतीयों की आय आवश्यक वस्तुओं की आसमान छूती कीमतों के अनुरूप नहीं है, अब यह नई समस्या गरीबी रेखा के नीचे के उपभोक्ताओं के लिए आर्थिक संकट को और बढ़ा सकती है। वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आश्वासन दिया है कि 80 करोड़ गरीब लोगों के लिए मुक्त राशन योजना को और 5 साल तक बढ़ाया जाएगा।

समस्याएं

जनवरी से राशन न मिलने पर हजारों परिवारों को आर्थिक संकट का सामना करना पड़ सकता है। निशुल्क गेहूं ,चावल ,चीनी नहीं पा सकेंगे लाभार्थी।

राशन कार्ड कैसे बनाएं

सरकारी आंकड़ों के मुताबिक ग्रामीण पारिवारिक वार्षिक आय 49 हजार रुपए से कम है वहीं शहरी इलाकों में वार्षिक पारिवारिक आय ₹60000 से नीचे है तो वैसे परिवार को गरीबी रेखा से नीचे माना जाएगा। अगर आपकी आय 49000 रुपए से कम है और अभी तक आपका राशन कार्ड नहीं बना है तो आप राशन कार्ड अप्लाई कर सकते हैं।

  • आपको आपके नजदीकी जन सेवा केंद्र पूरे दस्तावेज के साथ जाना होगा।
  • फिर सेवा केंद्र से आवेदन प्राप्त करें.
  • त्रुटि के अपना नाम पता एवं सदस्यों की पूरी जानकारी साफ-साफ भरकर खाद एवं रसद विभाग में जमा कर दें।
  • आवेदन भरने के बाद आपका राशन कार्ड 15 से 20 दिनों के अंदर बन जाएगा।
  • राशन कार्ड बनने के बाद अब सरकारी योजनाओं का लाभ आसानी से उठा सकते हैं।
  • राशन कार्ड के माध्यम से आप निशुल्क यह न्यूनतम मूल्य पर गेहूं या चावल ले सकते हैं।

जरूरी दस्तावेज

  • आधार कार्डपैन कार्ड
  • मोबाइल नंबर
  • बिजली बिल
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • आय प्रमाण पत्र
  • बैंक पासबुक

Note: – सभी दस्तावेज का फोटो कॉपी आवेदन के साथ मांगा जाता है।

कैसे शिकायत दर्ज कारण

अगर आप आवेदन जमा करने के बावजूद आपका राशन कार्ड ना बन रहा हो या फिर आपको राशन न दिया जा रहा हो या आप किसी भी तरह के परेशानियो का सामना कर रहे हो तो आप निशुल्क शिकायत दर्ज करा सकते हैं। इसके लिए आपको खाद एवं रसद विभाग उत्तर प्रदेश की आधिकारिक ऑफिशल वेबसाइट fcs.up.gov.in पर जाएं और रजिस्टर कंप्लेंट के विकल्प पर क्लिक करें। क्लिक करने पर एक नया वेब पोर्टल ओपन होगा। इसमें आप अपना जिला, नाम, पता, मोबाइल नंबर एवं अन्य सभी जानकारी भरे। इसके बाद शिकायत का विवरण भरकर सबमिट कर दें। शिकायत दर्ज के कुछ दिन बाद ही विभाग द्वारा आवश्यक कार्रवाई की जाएगी। इस तरह से आप घर बैठे ही ऑनलाइन शिकायत दर्ज कर सकते हैं।

Leave a Comment