Chandrayaan-3 पहुंचा चांद के और करीब, चंद्रमा की चौथी कक्षा में प्रवेश

चंद्रयान-3 ने चांद की ओर और अधिक नजदीकी बनाई है। यह मिशन आज ही चंद्रमा की चौथी परिपथ में समाहित हुआ है।

यह जानकर आश्चर्य है कि भारत का यह अंतरिक्ष मिशन चंद्रयान-3 चंद्रमा की दिशा में आज से ठीक एक महीना पहले प्रस्थान किया था।

यह निरंतर अपने लक्ष्य, चांद की सतह, की ओर प्रगति कर रहा है और अनुमान है कि वह अगले 9 दिनों में वहां उतरेगा। आज का दिन चंद्रयान-3 के लिए भी महत्वपूर्ण था, क्योंकि इसने चंद्रमा की चौथी परिपथ में स्थान प्राप्त किया।

एक महीना पहले, 14 जुलाई को, इसे आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा स्थित सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से प्रक्षेपित किया गया था। इस दौरान, चंद्रयान-3 ने कई महत्वपूर्ण चरणों को पार किया।

5 अगस्त को चंद्रयान-3 ने चंद्रमा की कक्षा में स्थान लिया। इसके प्रवेश के एक दिन बाद, 6 अगस्त को, इसकी कक्षा को पहली बार संकुचित किया गया।

उसी दिन चंद्रयान-3 ने चंद्रमा के नजदीकी तस्वीरें भेजीं। फिर, 9 अगस्त को इसकी कक्षा को दोबारा संकुचित किया गया। और आज, अर्थात 14 अगस्त को, चंद्रयान-3 ने चंद्रमा की चौथी कक्षा में अपनी स्थिति बनाई।

अगर सॉफ्ट लैंडिंग में सफलता प्राप्त होती है, तो इंडिया अमेरिका, रूस और चीन के बाद ऐसा काम करने वाला चौथा राष्ट्र बन जाएगा। जिससे हमे अपने देश में और भी ज्यादा गर्व होगा।